बलात्कार पीड़िता से बचने पुलिस का नया पैतरा!

झांसीः ललितपुर जिला मे बलात्कार की शिकार हुयी युवती को पुलिस ने दूसरे जनपद मे भर्ती करा दिया। इसके बाद पुलिस की नियत की पोल खुल गयी। पीड़िता का इलाज चल रहा है।सौजना थानान्तर्गत मैगुआं गांव में रहने वाली मे पीड़ित महिला का आरोप है कि वह 24 फरवरी को अपने आंगन में उपले बना रही थी। तभी गांव का ही युवक रमेश अकेला पाकर उसके घर में घुस गया। इसके बाद जान से मारने की धमकी देते हुये महिला से दुष्कर्म किया।

पति के घर आते ही महिला ने आप बीती सुनाई। वह इसकी शिकायत लेकर थाने की पुलिस के पास गई। जहां शिकायत करते हुये घटना के बारे में अवगत कराया।लेकिन पुलिस ने मामले को गम्भीरता से नहीं लिया। जब से थाने के चक्कर काट- काटकर परेशान पीड़िता ने न्याय की उम्मीद छोड़कर 2 मार्च को तेल डालकर आग लगा ली। जिससे वह गम्भीर रूप से झुलस गई।
झुलसी अवस्था में उसे उपचार के लिये अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

जैसे ही इसकी भनक पुलिस को हुई उसके हाथ पैर फूल गये। आनन फानन मे मामला दर्ज किया गया। इसके बाद पुलिस पीड़िता के दरवाजे पहुंच गई।
इसके बाद पुलिस ने उत्पीड़न की फेहरिस्त को आगे बढ़ाते हुए पीड़िता के पति से 5 हजार रुपए गाड़ी किराया के नाम पर दिलाए,और किराए की गाड़ी से ईलाज हेतु ललितपुर जिलाचिकित्सालय की जगह मध्यप्रदेश के जिला टीकमगढ भेज दिया। जिससे बात दवी रहे।

थानाध्यक्ष की कार्रवाई और भी संदिग्ध जब हो जाती है जब पीड़िता को जिला चिकित्सालय जाने से रोककर उसे म०प्र के टीकमगढ़ अस्पताल में भर्ती कराया जाता है। लापरवाही और कारगुजारी स्पष्ट होने पर पुलिस अधीक्षक सलमान ताज पाटिल ने मामले में कार्रवाई करते हुए फिलहाल सौजना थानाध्यक्ष को लाइन हाजिर किया है।

उसके बाद मामले मे लापवाहो और सरकार की मनसा के विपरीत चलने बालो पर ठोस कार्रवाई के साथ-साथ मामले के आरोपियो की गिरफ्तारी के लिए क्षेत्रीय लोगों ने राज्यमंत्री मनोहरलाल से मांग की ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *