झांसी-कैसे पकड़ी गयी शातिर महिलाएं

झांसीः महिलाएं भी अपराध की दुनिया मे किसी से कम नहीं है।यह बात आज पुलिस की पकड़ मे आयी महिलाओ को देखने के आप महसूस कर सकते हैं। पुलिस ने ऐसी महिलाओ को पकड़ा है, जो दूसरो के सामान को अपना समझ कर पार करने मे माहिर हैं।
गैंग को झांसी जीआरपी ने पकड़ने में सफलता हासिल की है। जिनमें दो महिलायें और एक पुरुष शामिल है। इनके पास से जीआरपी ने चोरी के आभूषण और मोबाइल बरामद किये है। सभी के खिलाफ जीआरपी ने मामला दर्ज कर कार्रवाही की है।
यह है बदमाशों का गैंग
झांसी जीआरपी कप्तान ओपी सिंह ने बताया कि रेलवे स्टेशन पर जीआरपी थाना प्रभारी अजीत सिंह अपनी टीम के लिए गश्त कर रहे थे। तभी उन्हें जानकारी हुई कि चोरों का गैंग है। सूचना को गम्भीरता से लेते हुए टीम बताये गये स्थान पर पहुंची।




जहां पुलिस टीम को देख बदमाश भागने लगे। टीम ने किसी प्रकार दो महिलाओं और एक पुरुष को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल कर ली। जिनके पास से तलाशी के दौरान 1 सोने का हार, 3 सोने की रिंग, एक नाक की नथ, एक मोबाइल और लगभग 3 हजार रुपए बरामद किये। सभी को पकड़कर थाने लाया गया। जहां उन्होंने पूछतांछ में अपना नाम श्रीमती राधा पत्नी गौवर्धन, श्रीमती गंगा पत्नी इतवारी निवासी धौर्रा जाखलौन ललितपुर और दीपक निवासी ग्वालियर बताया। इस दौरान गौवर्धन समेत दो लोग भागने में सफल रहे। जिन्हें शीघ्र ही गिरफ्तार कर लिया जायेगा।
पति के साथ मिलकर करे थे चोरी
जीआरपी कप्तान ने बताया कि पकड़ी गई महिला श्रीमती राधा अपने पति गोवर्धन और अन्य साथियों के साथ वारदात को अंजाम देते है। पहले दोनों महिलायें बच्चों को लेकर ट्रेन के पास पहुंचती। इसके बाद जैसे ही यात्री कोच में चढ़ने लगते हैं वह भी चढ़ने लगते और मौका पाकर महिलाओं के पास से जेवर और नकदी समेत अन्य सामान चोरी कर लेते है। चोरी करने के बाद वे माल को अपने अन्य साथियों को सौंप देते है और अगला स्टेशन आने के बाद उतर जाते है।
इस महिला यात्री के जेवर किये हैं चोरी
जीआरपी एसपी के अनुसार मऊरानीपुर इलाके में रहने वाले प्रियहित अपने पत्नी प्रीति सोनी के साथ झांसी रेलवे स्टेशन पर थीं। जहां छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस आने पर दतिया जाने के लिए जनरल कोच में चढ़ने लगे। तभी पकड़ी महिलाओं ने पुरुष साथी के साथ मिलकर प्रीति सोनी के पर्स से सोने के जेवर से भरा बॉक्स चोरी कर लिया था। जिसमें सोने का हार, रिंग और मंगलसूत्र रखा हुआ था। जिसमें मंगलसूत्र और एक इयर रिंग अभी बेसुराग है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *